| Beta Version

भूमिका और कार्य

एनसीईआरटी विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में द्विपक्षीय सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रमों (CEPs) हेतु एक कार्यान्वयन एजेंसी के रूप में कार्य करता है। एनसीईआरटी का अंतर्राष्ट्रीय संबंध प्रभाग (IRD) इस संबंध में विभिन्न गतिविधियों का समन्वय करता है। ये गतिविधियाँ इस प्रकार हैं:

  • अन्य देशों तथा अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियों के साथ विद्यालयी शिक्षा प्रणाली, पाठ्यक्रम और शिक्षण सामग्री से संबंधित जानकारी का आदान-प्रदान:
  • यूनेस्को, यूनिसेफ, यूएनडीपी, सीओएल आदि द्वारा प्रायोजित या समर्थित गतिविधियों को करने के अतिरिक्त, यह विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में विदेशी प्रतिनिधियों, विशेषज्ञों, शिक्षकों और अध्यापक-शिक्षकों हेतु कार्यक्रम आयोजित करता है।
  • यह विद्यालय और अध्यापक शिक्षा के क्षेत्र में विदेशी नागरिकों हेतु अल्पकालिक इन-सर्विस प्रशिक्षण कार्यक्रम करता है।
  • प्रभाग यूनेस्को, यूनिसेफ, यूएनडीपी आदि के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय सेमिनारों, बैठकों, संगोष्ठियों और प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए संकाय सदस्यों को प्रायोजित करता है।
  • यह यूनेस्को के एशिया पैसिफिक प्रोग्राम ऑफ एजुकेशनल इनोवेशन फॉर डेवलपमेंट (APEID) के राष्ट्रीय विकास समूह (NDG) के सचिवालय के रूप में कार्य करता है। एनसीईआरटी एपीईआईडी के संबंद्ध केंद्रों में से एक है। संबद्ध केंद्र के रूप में एनसीईआरटी, एपीईआईडी के संबंधित कार्यों में अन्य संबंधित केंद्रों के साथ अभिनव अनुभवों को साझा करना शामिल है

प्रभाग के व्यापक कार्य आवश्यक विशेषज्ञता के साथ सामग्री और कर्मियों के आदान-प्रदान के माध्यम से विदेशों के साथ सहयोग के विकास से संबंधित हैं। इसके अतिरिक्त यह विद्यालय और शिक्षक शिक्षा के विभिन्न पहलुओं में क्षमता निर्माण करने में सहायता करने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करता है। भारत और अन्य विभिन्न देशों के बीच शैक्षिक आदान-प्रदान और सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रमों के अंतर्गत हस्ताक्षर किए गए समझौता ज्ञापन (एमओयू) प्रभाग द्वारा विभिन्न गतिविधियों को प्रारम्भ करने के लिए व्यापक दिशानिर्देश प्रदान करते हैं। उपरोक्त कार्यों के अतिरिक्त, प्रभाग में संकाय सदस्य अपनी विशेषज्ञता के क्षेत्र में कार्य करते हैं।